Digital Gujarat PM Kisan Samman Nidhi Yojana Online Form 2019


Digital Gujarat PM Kisan Samman Nidhi Yojana Online Form 2019 : सरकार बनाते ही मोदी सरकार ने किसानों के लिए बड़ा फैसला लिया है। मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) का दायरा बढ़ा दिया है। बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के अपने संकल्प पत्र में इसके विस्तार का वादा किया था। इस स्कीम के तहत खेती-किसानी के लिए सालाना 6000 रुपए तीन किस्तों में मिल रहे हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (pradhan mantri kisan samman nidhi scheme) अब देश के सभी 14.5 करोड़ किसान परिवारों के लिए लागू हो गई है। 24 फरवरी 2019 को जब प्रधानमंत्री ने इसकी शुरुआत की थी तब सिर्फ यह सिर्फ 12 करोड़ किसानों के लिए ही थी, क्योंकि इस पर 2 हेक्टेयर यानी 5 एकड़ तक जमीन होने की शर्त थी, लेकिन अब इस शर्त को मोदी सरकार ने हटा दिया है और अब सभी किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। फिर भी कुछ शर्तें लागू रहेंगी, ताकि इसका लाभ असली किसानों तक ही पहुंचे। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना क्या है और आप इसका कैसे लाभ उठा सकते हैं जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर।




तीन किस्तों में हर साल किसानों को मिलेंगे 6000 रुपए


प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का ऐलान पीएम मोदी सरकार के अंतरिम बजट के दौरान किया गया था। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत देश के छोटे किसानों को सीधे उनके बैंक खाते में हर साल 6000 रुपए की सहायता राशि दी जाएगी। यह योजना 1 दिसंबर 2018 से पूरे देश में लागू हो चुकी है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत पहले कमजोर किसान परिवार, जिनके पास 2 हेक्टेयर या उससे कम जमीन है तो उन्हें 6000 रुपए प्रति वर्ष दर से सहायता दिए जाने का फैसला लिया था लेकिन अब इसमें सभी किसानों को इस योजना का लाभ मिलेगा। सरकार सीधे किसनों के बैंक खाते में पैसे डालेगी। इस योजना की पहली किस्त 2.25 करोड़ किसानों को मिल भी चुकी है। तीन किस्तों में किसानों को हर साल 6000 रुपए दिए जाएंगे। मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए 75,000 करोड़ रुपए आवंटित किए थे। 



स्टेप बाई स्टेप जाने कैसे लें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ

  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने के लिए आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करना पड़ेगा।
  • किसानों को इसका लाभ पाने के लिए सबसे पहले कृषि विभाग में रजिस्ट्रेशन करवाना होगा, प्रशासन उसका वेरीफिकेशन करेगा। रेवेन्यू रिकॉर्ड, बैंक अकाउंट नंबर, मोबाइल नंबर और आधार नंबर देना होगा। कोई कन्फ्यूजन है तो अपने लेखपाल से संपर्क कर सकते हैं। लेखपाल ही यह वेरीफाई करता है कि आप किसान हैं।
  • अगर लेखपाल और कृषि अधिकारी किसी असली किसान को इसका लाभ देने में आनाकानी कर रहे हैं तो सोमवार से शुक्रवार तक पीएम-किसान हेल्प डेस्क (PM-KISAN Help Desk) के ई-मेल Email (pmkisan-ict@gov.in) पर संपर्क कर सकते हैं। वहां से भी न बात बने तो इस सेल के फोन नंबर 011-23381092 (Direct HelpLine) पर फोन करें।
  • आॉनलाइन आवेदन करते समय किसान को अपना आधार कार्ड नंबर, मतदाता पहचान पत्र और बैंक से संबंधित यानी कि बैंक खाता संख्या पास होना जरूरी है।
  • इसके अलावा अगर किसान एससी/एसटी वर्ग से है तो उसके लिए उसे सर्टिफिकेट देना होगा।
  • इसके बाद आपको अपनी जानकारी देने होगी जैसे कि पिता का नाम, मोबाइल नंबर, जन्मतिथि, खेती की जानकारी जैसे- खेत का आकार, कितनी जमीन है आदि।
  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का ऑफलाइन आवेदन करने के लिए किसानों को ग्राम पंचायत या फिर पास के सीएससी सेंटर जाना होगा। वहां पर जाने के बाग आपको फार्म दिए जाएंगे, जिन्हें आपको भरना होगा।

कैसे पता चलेगा कि आपका नाम रजिस्टर हो चुका हैं

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का फार्म भरने के बाद जो भी लाभकारी किसान हैं, उनके नामों की लिस्ट पंचायत पर लगाई जाएगी। इसके अलावा जिन किसानों को उसका लाभ मिलना है उनके मोबाइल पर भी एसएसएस भेजा जाएगा।

कौन नहीं ले सकते प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ

केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी (मल्टी टास्किंग स्टाफ/चतुर्थ श्रेणी/समूह डी कर्मचारियों को छोड़कर) एवं 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को इसका लाभ नहीं मिलेगा। इसके अलावा अन्य पेशेवर जैसे डॉक्टर, वकील आदि अगर खेती करते हैं तो वे भी लाभ के लिए योग्य नहीं हैं। इसके साथ ही पिछले वित्तीय वर्ष में जिन्होंने इनकम टैक्स दिया है वे भी इसका लाभ नहीं उठ सकते हैं। वहीं जो सांसद, विधायक, मंत्री या फिर मेयर खेती करते हैं उनको भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा।

मोदी 2.0 कैबिनेट की पहली ही बैठक में हुआ बड़ा फैसला

31 मई को मोदी कैबिनेट की पहली बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में नए कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि कृषि क्षेत्र पर प्रधानमंत्री का बहुत ध्यान है। किसानों की आय दोगुनी करने की कोशिश जारी है। अब तक 3 करोड़ किसानों तक प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की रकम पहुंच चुकी है। दरअसल, साल 2014 में पहली बार सरकार बनने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने किसानों के मसलों को सबसे ऊपर रखा था। जब कांग्रेस हर जगह कृषि कर्जमाफी का वादा कर रही थी तो मोदी सरकार किसानों की आय बढ़ाने की योजनाओं पर काम कर रही थी, ताकि वे ऐसे बन जाएं कि उन्हें कर्जमाफी की जरूरत न पड़े। साथ ही किसान सम्मान निधि के तहत सालाना 6000 रुपए नगद देने की योजना शुरू की और उसे बहुत तेजी से लागू करवा दिया।

विशेष

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के संबंध में ज्यादा जानकारी के लिए आप उसकी वेबसाइट पर भी जा सकते हैं। वेबसाइट पर जाने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें pmkisan.gov.in


Subscribe to this Blog via Email :

Ads By Google